ईद पर नागौर में बवाल, पत्थरबाजी:छेड़खानी को लेकर हुआ विवाद; 1 घंटे तक 100 लोगों की भीड़ ने फेंके पत्थर

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

नागौर स्थित किदवई कॉलोनी में मंगलवार को ईद के मौके पर एक समुदाय के दो पक्षों में जमकर बवाल हुआ। बताया जा रहा है कि एक पक्ष की लड़कियों पर दूसरे पक्ष के युवकों ने फब्तियां कसी थीं, छेड़छाड़ भी करने की बात सामने आ रही है। इसके बाद कहासुनी हो गई। मामला इतना गर्म हुआ कि मारपीट की नौबत आ गई। इसके बाद हालात बेकाबू हो गए। करीब 100 से ज्यादा लोग आमने-सामने हो गए और जमकर पत्थर चलाए। इसके बाद उपद्रवियों ने 10-12 बाइकें तोड़ दी। पत्थरबाजी में आधा दर्जन लोग घायल हो गए।

 

दोपहर करीब 2 बजे छेड़खानी की बात को लेकर दो गुट आपस में किदवई कॉलोनी में भिड़ गए। विवाद थोड़ी देर में ही हिंसक हो गया। मौके पर दोनों पक्षों के सैंकड़ों लोग जमा हो गए। जमकर पत्थरबाजी की गई। एक-दूसरे की गाड़ियों को भी निशाना बनाया गया। करीब एक घंटे तक चले इस हिंसक बवाल में 5-6 जने घायल हो गए।

 

पत्थरबाजी और हंगामे की सूचना पर डिप्टी विनोद कुमार सीपा, शहर कोतवाल बृजेन्द्र सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारी भारी पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और हालात को काबू किया। पुलिस फ़ोर्स ने दोनों ही पक्षों के उपद्रवियों को मौके से खदेड़ दिया। मौके पर शांति बनी हुई है। फ़ोर्स की भी तैनाती की गई है। अभी दोनों ही पक्ष कोतवाली थाने में मौजूद है। फिलहाल थाने में दोनों पक्षों की ओर से शिकायत दर्ज की गई है।

 

ऐसे शुरू हुआ विवाद

पुलिस ने बताया कि छेड़खानी की किसी बात को लेकर किदवई कॉलोनी में दो पक्षों में कहासुनी हो गई। थोड़ी देर में ही दोनों पक्षों के काफी लोग आमने-सामने हो गए। थोड़ी ही देर में लोग हिंसक हो गए और एक दूसरे पर पत्थरबाजी शुरू कर दी गई। कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई। कोतवाली SHO बृजेन्द्र सिंह ने बताया कि फिलहाल मौके पर शांति है और कंडीशन कंट्रोल में है। 4 घायलों का मेडिकल करवाया गया है, उन्हें मामूली चोटें आई है।

यह खबर भी पढ़ें:-   नीरज चोपड़ा ने लुसाने डायमंड लीग में जीत दर्ज की:पहले ही थ्रो में 89.08 मी दूर फेंका जैवलिन; यह खिताब जीतने वाले पहले भारतीय

 

दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ दर्ज कराए मामले

नागौर CO विनोद कुमार सीपा ने बताया कि एक ही समुदाय के दोनों पक्षों की तरफ से परस्पर मामले दर्ज करवाए गए है। चार लोगों को हिरासत में भी ले लिया गया है। इस मामले में साम्प्रदायिक हिंसा जैसी कोई बात नहीं है और न ही इसे बेवजह तूल दिया जाना चाहिए। लड़की से छेड़खानी को लेकर एक ही समुदाय के दो पड़ोसियों में ये विवाद हुआ था। पुलिस की भी सभी लोगों से अपील है कि अफवाहें न फैलाएं। घटना से जुड़े वीडियोज की जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here