चूरू:बीमा नहीं करवाना चाहते तो लिखित में दें किसान,फसल खराबे पर होने वाले नुकसान से बचने के लिए किसान 31 तक करवा सकेंगे रबी फसलों का बीमा

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़ चूरू|| जिले में रबी फसलों की बुआई करीब-करीब पूरी हो चुकी है। रबी सीजन के दौरान हर बार ओलावृष्टि व पाले के कारण किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसे में किसान इस नुकसान से बचने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 31 दिसंबर तक अपनी फसलों का बीमा करवाकर संभावित नुकसान से बच सकते हैं।

उपनिदेशक कृषि विस्तार दीपक कपिला ने बताया कि जिले में एसबीआई जनरल इंश्योरेंस कंपनी फसल बीमा के लिए अधिकृत है। इसमें ऋणी किसानों का प्रीमियम संबंधित बैंकों की ओर से केंद्र सरकार के नियमानुसार स्वतः ही काटकर बीमा कंपनी को भेज दिया जाएगा। किसानों को अपनी नवीनतम गिरदावर बैंक में जमा करानी होगी, ताकि सही फसल का बीमा काटा जा सके व क्लेम से वंचित न हों।

अगर कोई ऋणी किसान फसल बीमा योजना से अलग रहना चाहता है तो उसे 24 दिसंबर तक संबंधित बैंक शाखा में लिखित में घोषणा पत्र देना होगा, जिसका प्रारूप बैंक शाखा में उपलब्ध रहेगा। ऐसा नहीं करने पर उसकी सहमति मानते हुए प्रीमियम काट कर बीमा कंपनी को भेज दिया जाएगा। इसके अलावा किसानों को बीमित फसल में परिवर्तन की सूचना भी 29 दिसंबर तक हाल में देनी होगी।
चना पर सबसे अधिक 37 प्रतिशत प्रीमियम राशि
बीमा कंपनी की ओर से बीमा को लेकर सबसे अधिक चना पर 37.07 प्रतिशत प्रीमियम राशि वसूल की जाती है। इसी प्रकार जौ पर 25 प्रतिशत, जीरा 28, इसबगोल 29.95, मैथी 30, सरसों 14, तारामीरा 30 व गेहूं पर 10.91 प्रतिशत प्रीमियम काटा जाता है। इसमें गेहूं, जौ, चना, सरसों व तारामीरा के बीमा को लेकर किसान को 1.50 प्रतिशत तथा जीरा, ईसबगोल व मेंथी पर पांच प्रतिशत प्रीमियम राशि अदा करनी होती है, जबकि शेष राशि केंद्र व राज्य सरकार वहन करती है

यह खबर भी पढ़ें:-   जानिए 21 मई 2021का पंचाग, शुभ अशुभ मुहूर्त पंडित बाल व्यास खेताराम जी शास्त्री के साथ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here