देश में ‘हर घर तिरंगा अभियान’, लेकिन छत्तीसगढ़ में महापौर और पार्षद पर दर्ज हुई FIR, जानिए क्या मामला

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

राजनांदगांव, 12 अगस्त। आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर देश ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है। ‘हर घर तिरंगा अभियान’ चलाकर नागरिकों में देशभक्ति जागृत की जा रही है। इस बीच छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में महापौर के ऊपर राष्ट्रीय ध्वज के अपमान को लेकर अपराध दर्ज कराया गया है। यह अपराध भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कांवड़ यात्रा के दौरान महापौर द्वारा उल्टा तिरंगा लेकर चलने की बात पर कराया गया है।

सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियो राजनांदगांव की महापौर हेमा देशमुख सावन के अंतिम सोमवार को राजनांदगांव के एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान कांवड़ यात्रा शामिल हुई। इस यात्रा में कांवड़ के साथ साथ महापौर दूसरे हांथ से तिरंगा लहरा रही है। लेकिन राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा को देखे बगैर महापौर उल्टा तिरंगा लेकर शहर में घूमती रही। इस पूरे दृश्य का वीडियो और फोटो सोशल मीडिया में वायरल हो गया था।

भाजपा ने लगाया आरोप दरअसल महापौर हेमा देशमुख के उल्टा तिरंगा लेकर चलने के मामले को लेकर राजनांदगांव के भाजपा नेताओं ने सोशल मीडिया में जमकर कमेंट्स किए और फिर महापौर के द्वारा खिलाफ राष्ट्रीय ध्वज के अपमान पर अपराध दर्ज करने थाने का घेराव किया। भाजपा नेता नीलू शर्मा का आरोप है कि महापौर ने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया है। इसलिए उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज होना चाहिए।

धमतरी तक पहुंची आवाज इस पूरे मामले को लेकर धमतरी में भी प्रदर्शन करने से भाजपाई नही चुके उन्होंने धमतरी की भाजपा विधायक रंजना साहू के नेतृत्व में धमतरी में ही प्रदर्शन कर कांन्ग्रेस नेत्री व महापौर के खिलाफ अपराध दर्ज करने की मांग की। इसमें पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष रामू रोहरा, सांसद प्रतिनिधि उमेश साहू, महिला मोर्चा अध्यक्ष बिथिका विश्वास , शहर मंडल अध्यक्ष पार्षद सहित सभी भाजपाई नेता उपस्थित थे। मेयर पर दर्ज हुआ FIR सावन के अंतिम सोमवार निकली शोभायात्रा में तिरंगा उल्टा लेकर चलने के मामले में कोतवाली पुलिस ने महापौर हेमा देशमुख और पार्षद मणि भास्कर गुप्ता के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है। उल्टा तिरंगा लेकर चलने का महापौर का वीडियो वायरल हुआ था।

यह खबर भी पढ़ें:-   सीधी मारवाड़ी चैनल की यूट्यूबर कोशल्या चोधरी ने सरहद पर मनाया रक्षाबंधन, देखिए लाइव तस्वीरें

इस वीडियो के आधार पर ही महापौर पर अपराध दर्ज किया गया है। दोनों ही मामलों को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने मेयर और पार्षद के खिलाफ भारतीय ध्वज आचरण संहिता की धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। मामले की पुष्टि एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने की है। भाजपा पार्षद के खिलाफ भी FIR दर्ज इसे पूरे मामले को लेकर रानांदगांव नगर निगम के भाजपा पार्षदों ने पुलिस से जुर्म दर्ज करने की मांग की थी। दो दिन बाद भाजपा पार्षद मणि भास्कर गुप्ता का भी एक वीडियो सामने आ गया। जिसमें वे तिरंगा झंडा उल्टा लेकर चलते हुए दिख रही हैं। वीडियो और फोटो सामने आने के बाद कांग्रेस पदाधिकारियों ने एसपी को ज्ञापन सौंपा और कार्रवाई की मांग की। मेयर ने बताया मानवीय भूल शुरुआत में जब मेयर का वीडियो वायरल हुआ था तो उन्होंने इसके लिए खेद प्रकट करते हुए कहा था कि वे तिरंगा के अपमान का सोच भी नहीं सकते। उन्होंने कहा था कि उल्टा तिरंगा झंडा देने वाले की मानवीय भूल है। देश का संविधान और कानून सर्वोपरि है। मैं राष्ट्र ध्वज तिरंगे झंडे का पूरा सम्मान करती हूं और मैं सदैव सम्मान करती रहूंगी। कानून अपना काम करे संविधान करे मैं हर जांच के लिए तैयार हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here