दोस्तों के साथ नाचता रह गया दूल्हा, किसी और के साथ हो गए दुल्हन के फेरे

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

Sadulpur: राजस्थान के चूरू जिले की सादुलपुर तहसील के चेलना गांव में जब बाराती रात को 2 बजे बारात लेकर पहुंचे तो उनकी आंखे फटी रह गई. दुल्हन की शादी किसी और से हो चुकी थी. इसके बाद दूल्हे को बारात समेत बेरंग लौटना पड़ा. इसके बाद सोमवार को दुल्हा सुनील और उसके रिश्तेदार राजगढ़ थाने पहुंचे. लड़की वालों का कहना है कि सात फेरों की रस्म में ही जब इतनी लापरवाही रही तो फिर आगे ये लोग क्यों रिश्ता निभा पायेंगे. बहरहाल पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाइश दी. जिसके बाद दोनों पक्षों ने पारिवारिक कारणों का हवाला देकर लिखित में शादी कैंसिल होने का पुलिस को लिखकर दिया.

देर रात तक दोस्तों के साथ नाचता रहा दूल्हा, दुल्हन ने दूसरे युवक के साथ ले लिए फेरे

दूल्हे को अपने दोस्तों के संग डीजे पर हुड़दंग मचाना महंगा पड़ गया. बारात में आए दूल्हे और उसके दोस्तों का हुड़दंग देखकर दुल्हन को गुस्सा आ गया. गुस्से में आई दुल्हन ने पूरी बारात को वापस लौटा दिया. हुड़दंग से परेशान आकर दुल्हन के परिजन और गांव वालों ने उसकी शादी कहीं और करा दी. दूल्हे पक्ष ने अब पुलिस के पास पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है. मामला चुरू जिले के राजगढ़ तहसील के चेलाना गांव का बताया जा रहा है. 15 मई को हरियाणा के सिवानी वार्ड संख्या 10 निवासी अनिल पुत्र महावीर जाट बारात लेकर राजगढ़ के चेलाना बास अपनी दुल्हन मंजू को लेने पहुंचा था.

बारात दुल्हन के घर पहुंचते ही करीब 150 से अधिक बराती गाजे बाजे और डीजे की धुन पर थिरकने लगे. रात 9 बजे के करीब बारात दुल्हन के घर के लिए निकली. डीजे की धुन और शराब के रंगीन नशे में शराबी ऐसे डूबे कि रात 1 बजे तक नाचते रहे. डीजे पर दूल्हे और उसके दोस्तों ने ऐसी हुड़दंग मचाई कि दुल्हन पक्ष के लोग परेशान हो गए. रात को 2 बजे तक जब बारात घर नहीं पहुंची और ना ही विवाह की रस्में हो पाईं. इस बात से दुल्हन पक्ष के लोग नाराज हो गए. दुल्हन पक्ष ने जब बारातियों को हुड़दंग बंद करने को कहा तो उन्होंने लड़ाई कर ली. 1:15 का वक्त फेरों का था जो निकल गया. इसके बाद दुल्हन और उसके परिजनों ने शादी किसी अन्य लड़के से कराने का फैसला लिया. रात में उसी मंडप में दुल्हन के परिजनों ने दुल्हन की शादी अन्य लड़के से कर दी.

यह खबर भी पढ़ें:-   राजस्थान के दो सपूत शहीद, अलवर-दौसा के थे दोनों जवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here