WhatsApp Channel Click here Join Now

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा डे-3:गर्मी के कारण परीक्षा देने नहीं आए आधे अभ्यर्थी, 13 हजार में से 7126 अभ्यर्थी ही परीक्षा देने आए

विज्ञापन

श्रीडूंगरगढ़ न्यूज़ बीकानेर पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में रविवार काे तीसरे दिन 13932 की जगह 7126 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। 6806 अभ्यर्थी परीक्षा देने नहीं पहुंचे। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 12 परीक्षा केंद्रों पर चैकिंग के बाद अभ्यर्थियों की एंट्री करवाई गई। नकल राेकने के लिए सेंटर्स पर लगाए गए जैमर सुचारू रूप से काम करते रहे। मोबाइल पार्टियों अलर्ट माेड पर रही। जवान सेंटर्स के पास नजर रखे हुए थे।

Google Ad

परीक्षा कंट्रोल रूम प्रभारी चंद्रजीतसिंह ने बताया कि सुबह नाै से 11 बजे के बीच चली पहली पारी में 3576 अभ्यर्थी मौजूद हुए, जबकि 3396 अनुपस्थित रहे। ऐसे ही शाम काे तीन से पांच बजे के बीच हुई दूसरी पारी में 3550 अभ्यर्थी मौजूद हुए, जबकि 3410 अनुपस्थित रहे। ओएमआर शीट काे स्कैन व बायोमैट्रिक पर वेरीफिकेशन सेंटर्स के अंदर परीक्षा शुरू हाेते वक्त ही करवा लिया गया ताकि अभ्यर्थी काे दिक्कत का सामना करना पड़ा।

गर्मी से अभ्यर्थियों के साथ पुलिसकर्मी भी परेशान
जिले में कई दिनाें से पड़ रही भीषण गर्मी से अभ्यर्थी नहीं पुलिसकर्मी भी परेशान नजर अाए। सेंटर्स पर तैनात जाब्ता गर्मी से त्रस्त रहा। अभ्यर्थियों काे धूप से बचने के लिए छाया वाली जगह की तलाश करनी पड़ी। सेंटर्स पर पुलिसकर्मियों ने एचएचएमडी या डीएफएमडी से परीक्षार्थियों के नाखून, कान, कपड़ों की जेब, जूते, चप्पल सभी काे चेक किया गया ताकि नकल से जुड़ा काेई सामान सेंटर के अंदर न जा सके। परीक्षार्थियों की भीड़ से कहीं ट्रैफिक जाम न हाे। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस ने उरमूल सर्किल, आंबेडकर सर्किल, म्यूजियम सर्किल, बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन पर अतिरिक्त जाब्ता लगा रहा।

रोडवेज की 103 बसें पुलिस भर्ती के अभ्यर्थियों काे करा रही फ्री यात्रा, तीन दिन में 65 लाख का नुकसान
पिछले तीन दिन से इंटर स्टेट और ग्रामीण रूट पर चलने वाली रोडवेज की सभी बसें बंद है। वजह है पुलिस भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों को निशुल्क सफर का सरकारी तोहफा। बसों में अभ्यर्थियों की भीड़ और स्टैंड पर भगदड़ काे देखते हुए बुकिंग विंडाे बंद कर दिए गए हैं। रोडवेज की वेबसाइट पर ऑनलाइन बुकिंग भी नहीं की जा रही है। ऐसे में पिछले तीन दिन में अकेले बीकानेर जिले के करीब 45 हजार आम यात्री रोडवेज की बसों में सफर नहीं कर पाए। उन्हें निजी बसों में दाेगुना किराया देकर सफर करना पड़ा। बीकानेर के कई ऐसे गांव हैं, जहां रोडवेज की बस ही चलती है, ऐसे में वहां के नागरिकों को बीकानेर आने के लिए निजी वाहनों का उपयोग करना पड़ा। रोडवेज आगार में अनुबंधित और रोडवेज की कुल 103 बसें हैं, जिन्हें पुलिस भर्ती परीक्षा में लगाया हुआ है। रोडवेज प्रशासन की मानें तो आम दिनों में बीकानेर आगार से करीब 15 हजार यात्री सफर करते हैं।

इस रूट की बसें बंद, यात्री परेशान
बीकानेर आगार से संचालित इंटर स्टेट रूट पंजाब, फाजिल्का, भठिंडा, चंडीगढ़, दिल्ली, अहमदाबाद तथा ग्रामीण रूट शेखसर, कालू, दासूड़ी, धरनोक, राववाला तथा पांचू मार्ग बंद है। इंटर स्टेट और ग्रामीण रूट को छोड़कर दूसरे जिलों में जाने वाली बसों का संचालन तो किया जा रहा है, लेकिन पुलिस भर्ती परीक्षा देने बीकानेर पहुंचे अभ्यर्थियों के कारण आम यात्रियों को बसों में जगह ही नहीं मिल रही। रोडवेज बस स्टेंड पर बस के पहुंचते ही अभ्यर्थियों की भगदड़ शुरू हो जाती है।

तीन दिन में 65 लाख का मुफ्त सफर

  • सरकार के आदेश थे। इसलिए सभी बसें लगानी पड़ी। पिछले तीन दिन में करीब 65 लाख रुपए की निशुल्क यात्रा अकेले पुलिस भर्ती परीक्षा से जुड़े अभ्यर्थियों को करवाई जा चुकी है। – अंकित शर्मा, राेडवेज ट्रैफिक मैनेजर