बीकानेर :रीट भर्ती परीक्षा में एक चप्पल 6 लाख रुपये में बिकी, दिखाए फोटो सहित ख़बर

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़ बीकानेर || रीट भर्ती परीक्षा रविवार को प्रदेश में लाखों विद्यार्थियों ने अपना भविष्य को संजोय रखने के लिए परीक्षा देने के लिए एक जिले से दूसरे जिले में यात्रा कर अपने सेंटर तक पहुंचे लेकिन कुछ नकर गिरोहों ने इन युवाओं की मेहनत पर पानी फैरने की पूरी कोशिश की लेकिन प्रशासन की सतर्कता के चलते कई जगहों पर पुलिस प्रशासन ने नकलचियों को दबोचा। जानकारी के अनुसार बीकानेर में पुलिस ने अभ्यर्थियों को ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पल देने वाले 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बीकानेर के गंगाशहर में ये कार्रवाई की गई है। आरोपी चप्पल में डिवाइस लगाकर अभ्यर्थियों को नकल कराने में जुटे थे। शुरुआती जांच में सामने आया कि आरोपियों ने डिवाइस लगी चप्पल करीब 6 लाख रुपए में अभ्यर्थियों को बेची थी। तीन युवकों को गिरफ्त में लिया गया है। ये लोग चप्पल में डिवाइस लगाकर सेंटर पर नकल कराने की कोशिश में जुटे हुए थे। इनसे कई महत्वपूर्ण सामान भी मिले हैं, जो नकल में काम आते हैं। यह कार्रवाई गंगाशहर पुलिस और डीएसटी टीम ने मिलकर की है।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह इंदोरिया तीनों युवकों से पूछताछ कर रहे हैं।

इंदोरिया ने बताया कि आरोपियों की पहचान जेगलिया राजलदेसर निवासी मदन लाल, शोभाणा भादला नोखा निवासी त्रिलोक चंद्र, रामपुरा राजलदेसर निवासी ओमप्रकाश, जेगलिया राजलदेसर निवासी गोपाल कृष्ण व लोहा रतनगढ़ निवासी किरण देवी के रूप में हुई है। आरोपियों के पास इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, कान में लगाने वाली इलेक्ट्रॉनिक मक्खी, मोबाइल, सिम आदि मिले हैं।

गिरफ्तार युवकों ने डिवाइस लगी चप्पलें तैयार की थीं। अब पता लगाया जा रहा है कि इन्होंने किस-किस स्टूडेंट्स को चप्पल देकर परीक्षा केंद्रों पर भेजा है। पुलिस ने ओम प्रकाश, मदन व त्रिलोक नामक तीन युवकों को पकड़ा है। ये सभी चुरू के रहने वाले हैं। वहीं एक आरोपी तुलसीराम कलेरा को नामजद किया गया है। जो पहले भी नकल के एक मामले में गिरफ्तार हो चुका है। कलेरा बीकानेर में कोचिंग संस्थान चलाता था।

यह खबर भी पढ़ें:-   दो सगी बहनो द्वारा एक साथ फांसी खाकर आत्महत्या करने से हड़कंप

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here