मतगणना के रिजल्ट्स आने शुरू:जैन गर्ल्स में ABVP अध्यक्ष पद हारी लेकिन शेष जीते, NSP में कृतिका, खाजूवाला में रोबिन बिश्नोई बने अध्यक्ष

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

बीकानेर में छात्र संघ चुनाव के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। पहला परिणाम नेहरु शारदा पीठ कॉलेज से आया है, जहां अध्यक्ष पद पर कृतिका पारीक ने यश देरासरी को दस वोट से हराकर जीत हासिल की है। यहां उपाध्यक्ष पद पर जयकिशन जोशी जीते हैं। वहीं जैन गर्ल्स कॉलेज में निशा सोनी ने जीत दर्ज की है। निर्दलीय उम्मीदवार निशा ने 28 वोट से जीत दर्ज की है। यहां उपाध्यक्ष पद पर वंशिका बोथरा ने जीत हासिल की। वंशिका एबीवीपी के बैनर पर चुनाव लड़ी।

जैन पीजी कॉलेज में बिजेश बने अध्यक्ष

जैन पीजी कॉलेज में बिजेश बिश्नोई ने 63 मतों से जीत हासिल की। यहां आशीष परिहार को हराया। उपाध्यक्ष पद पर दीपक आचार्य ने रवि माली को 92 वोट से हराया। महासचिव हिमांशु अग्रवाल बने उसने दीक्षित बोथरा को 83 मतों से हराया। संयुक्त सचिव आनन्द मारु बने, जिसने में गौरव यादव को 73 मतों से हराया।

जैन गर्ल्स में अध्यक्ष को छोड़ ABVP की जीत

जैन गर्ल्स कॉलेज में एबीवीपी को अध्यक्ष पद पर हार का सामना करना पड़ा, जबकि शेष सीटों पर एबीवीपी के प्रत्याशी जीत गए। यहां एबीवीपी की पल्लवी कच्छावा को निर्दलीय निशा सोनी ने 28 वोट से हराया दिया। उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी सफल रही। यहां वंशिका बोथरा ने रिंकू आचार्य को हराया। महासचिव पद पर एबीवीपी की गार्गी सोलंकी ने निर्दलीय कलावती सोनी को हराया। संयुक्त सचिव पद पर एबीवीपी की कोमल राठौड़ ने मोनिका कंवर को हराया।

बीकानेर के महाराजा गंगा सिंह युनिवर्सिटी सहित प्रदेश के सभी कॉलेज में हुए छात्र संघ चुनाव के परिणाम कुछ ही देर में घोषित होने वाले हैं। बड़ा मुकाबला बीकानेर के डूंगर कॉलेज में है, जहां नौ हजार से अधिक वोटर्स हैं। वहीं प्रतिष्ठा वाला चुनाव महाराजा गंगा सिंह युनिवर्सिटी में है। जहां वोटर्स तो नौ सौ तीन ही है लेकिन युनिवर्सिटी होने के कारण सभी की निगाहें इसी पर टिकी हुई है।

यह खबर भी पढ़ें:-   REET में पहली बार दो युवतियां गिरफ्तार, 10 लाख रुपए में किया सौदा

डूंगर कॉलेज में नौ हजार से ज्यादा वोट हैं, लेकिन यहां पचास फीसदी मतदान भी नहीं हुआ। ऐसे में यहां त्रिकोणीय मुकाबला बना हुआ है। एनएसयूआई के हरीराम गोदारा को अपनी ही पार्टी के बड़े नेताओं के विरोध का सामना करना पड़ा है। वहीं एबीवीपी यहां एकजुट होकर चुनाव लड़ी है। एसएफआई और इनसो ने भी अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं।

महाराजा गंगा सिंह युनिवर्सिटी में एनएसयूआई ने कोई उम्मीदवार ही खड़ा नहीं किया है, जबकि एबीवीपी यहां से चारों पदों पर चुनाव लड़ रही है। एबीवीपी ने चुनाव भी जातीय समीकरण के आधार पर लड़ा है। एनएसयूआई यहां जीतने वाले केंडिडेट्स को समर्थन देने की नीति पर काम कर रही है। इसी तरह एमएस कॉलेज में भी करीब साढ़े तीन हजार स्टूडेंट्स को अपने नए अध्यक्ष और महासचिव का इंतजार है। बीकानेर के अन्य कॉलेज में भी दोपहर तक रिजल्ट घोषित हो जाएंगे।

सुबह सवेरे पहुंचे लेक्चरर

सभी कॉलेज में लेक्चरर शनिवार सुबह सवेरे ही कॉलेज पहुंच गए थे। मतगणना के तय समय से दो-तीन घंटे पहले मतगणना करने वाले लेक्चरर को बुलाया गया। डूंगर कॉलेज में चुनाव प्रभारी इंद्रसिंह राजपुरोहित व प्रिंसिपल जे.पी. सिंह ने इनकी मीटिंग ली और मतगणना के नियमों से अवगत कराया। भारी संख्या में पुलिस का जाब्ता तैनात किया गया है। यहां मतदान के दौरान भी दो बार पुलिस और स्टूडेंट्स के बीच झड़प हुई थी। ऐसे में मतगणना के दौरान भी भारी पुलिस जाब्ता लगेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here