राजस्थान में शराब की दुकान की इतनी महँगी बोली आपने कभी नही सुनी होगी,कम्प्यूटर में अंक ही ख़त्म हो गये

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज :-राजस्थान में शराब की दुकानों के लिए लगने वाली बोली जबरदस्त चर्चा में हैं. पहले हनुमानगढ़ जिले के नोहर के एक शराब की दुकान के 510 करोड़ की बोली लगी थी, अब उस रिकॉर्ड को तोड़ते हुए दौसा में एक शराब की दुकान के लिए ऐसी बोली लगाई गई है, जिसका दाम तब तक बढ़ता गया जब तक कम्प्यूटर सिस्टम में डालने के लिए अंक ही समाप्त हो गए.
दरअसल, यह बोली पूरे राजस्थान में चर्चा का विषय बन गई है. राजस्थान आबकारी विभाग द्वारा पहली बार प्रदेश में शराब के ठेकों की ऑनलाइन बोली लगाई जा रही है. दौसा जिले के साहपुर पाखर गांव के शराब के ठेके के लिए ऑनलाइन बोली लगाई जा रही थी. इस बोली में करण सिंह गुर्जर और नवल किशोर मीणा भाग ले रहे थे
इन दोनों ने ही बोली लगाना शुरू किया और कंपटीशन में बोली 999 करोड़ रुपए से अधिक तक पहुंच गई. प्रथम बोली दाता करण सिंह गुर्जर ने 999 करोड़ 95 लाख 216 रुपए की बोली लगाई दूसरे नंबर पर बोलीदाता नवल किशोर मीना रहे. नवल किशोर ने भी करीब 999 करोड़ 90 हजार 216 रुपए की बोली लगाई.
बोली के दौरान ही 1000 हजार करोड़ या इससे से आगे कंप्यूटर में अमाउंट लेना ही बंद कर दिया वरना दोनों प्रतिद्वंदी अभी आगे भी अपनी बोली जारी रखते. आबकारी विभाग के जिला आबकारी अधिकारी अनिल कुमार जैन ने बताया कि करण सिंह गुर्जर और नवल किशोर मीना ने बोली 999 करोड़ रुपए से अधिक तक पहुंचाई है.
बताया गया कि अब ठेका लेने लिए पहले करण गुर्जर और फिर नवल मीना को मौका दिया जाएगा. यदि बोलीदाताओं के द्वारा शराब का ठेका लिया जाता है तो ठीक है वरना दोनों ही बोली दाताओं को 3 साल के लिए ब्लैकलिस्टेड किया जाएगा, जिसके बाद दोनों ही बोलीदाता आबकारी विभाग की दुकान व बीयर बार की बोलियों में भाग नहीं ले सकेंगे.
इसके साथ ही अमानत राशि दो लाख रुपए व 60 हजार आवेदन शुल्क को जब्त किया जाएगा. इधर यह सम्भावना जताई जा रही है कि दोनों ने नाक की लड़ाई के लिए बोली में कंपटीशन किया और 999 करोड़ से अधिक तक बोली पहुंचा दी.

यह खबर भी पढ़ें:-   भारतीय योग चिकित्सक संघ की प्रदेश स्तरीय जूम मीटिंग - ओम कालवा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here