Bikaner : इस बार भी कॉलेज स्तर की परीक्षाएं डेढ़ घंटे की होगी

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

बीकानेर. महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय की परीक्षाओ के आयोजन के लिए हालांकि अभी तक कोई टाइम टेबल जारी नहीं किया गया है, लेकिन विवि प्रशासन ने प्रश्न पत्र को हल करने के समय में कटौती की है।

विवि की परीक्षाएं इस बार भी गत वर्ष की भांति डेढ़ घंटे के समय में होगी। जबकि आमतौर परीक्षा के लिए तीन घंटे निर्धारित होते हैं। इसके अलावा प्रायोगिक परीक्षाएं भी गत वर्ष की भांति विद्यार्थियों की ओर से जमा कराई गई फाइलों के आधार पर की जाएंगी। इस संबंध गुरुवार को विश्वविद्यालय के प्रबंध बाेर्ड की हुई बैठक में निर्णय लिया गया।

MGSU द्वारा जारी आदेश
MGSU द्वारा जारी कार्यालयआदेश

प्रायोगिक परीक्षा 2021 की भांति ही वर्ष 2022 होगी

परीक्षा नियंत्रक प्राे. राजाराम चायल ने बताया कि प्रायोगिक परीक्षा 2021 की भांति वर्ष 2022 में भी की जाएगी। स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा पाठ्यक्रम के प्रश्न पत्रों की समय अवधि तीन घंटे के बजाय डेढ़ घंटे होगी। विद्यार्थियों को प्रश्न पत्रों में वर्णित प्रश्नों को अनुपातिक रूप से पचास प्रतिशत ही हल करने का विकल्प दिया जाएगा। इसके अलावा प्रथम वर्ष की परीक्षाएं भी इस बार आयोजित की जाएंगी। गत वर्ष कोरोना की वजह से प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को प्रमोट किया गया था।

साथ ही जिन प्रश्न पत्रों में यूनिट तथा इकाई की बाध्यता है, उन प्रश्न पत्रों में बाध्यता हटा दी गई है। इसके अलावा सभी शिक्षण-प्रशिक्षण महाविद्यालयों के प्राचार्यों को निर्देश दिए गए हैं कि उनके महाविद्यालयों के प्रशिक्षणार्थियों के लिए इंटर्नशिप कार्यक्रम शिक्षा निदेशक के माध्यम से ही पूर्ण कराया जाए।एनएसयूआइ ने किया प्रदर्शन

एनएसयूआइ के पूर्व ज़िलाध्यक्ष ने दिया था धरना

धरने के दौरान कुलपति से बात करते हैं रामनिवास कुकणा
MGSU Bikaner :धरने के दौरान कुलपति से बात करते हैं रामनिवास कुकणा

आप को बता दे कि इससे पहले परीक्षाओं के समय में कटौती करने तथा पाठ्यक्रम भी कम करने की मांग को लेकर एनएसयूआइ के पूर्व ज़िलाध्यक्ष रामनिवास कुकणा एवं छात्रसंघ अध्यक्ष कृष्णकुमार गोदारा के नेतृत्व में महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के कुलपति सचिवालय के आगे प्रदर्शन कर अनिश्चितक़ालीन धरना दिया। कुकणा ने कहा कि वर्तमान सत्र देरी से शुरू हुआ है कोरोना के कारण कक्षाओं का संचालन भी पूर्ण रूप से नहीं हो पाया। बीकानेर संभाग के महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय के तहत आने वाले किसी भी महाविद्यालय का परीक्षाएं शुरू होने तक पाठ्यक्रम पूर्ण नहीं हो पाएगा। इसलिए पाठ्यक्रम में 50 प्रतिशत की कटौती करें तथा परीक्षा का समय डेढ़ घंटे किया जाए। परीक्षा नियंत्रक के आश्वासन के बाद ही वे हटे। बाद में समय डेढ़ घंटा होने से गोदारा ने खुशी जताई।

यह खबर भी पढ़ें:-   ओबीसी मोर्चा की कार्यकारिणी घोषित होते ही विरोध शुरूजानिए पूरी खबर

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here