LOC पार कर रहे 3 आतंकी मारे गए, एक फरार:जम्मू-कश्मीर में 5 दिन में घुसपैठ की तीसरी घटना; बांदीपोरा में लश्कर के दो आतंकी गिरफ्तार

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़ जम्मू-कश्मीर में बारामुला के उरी सेक्टर में बॉर्डर पार कर रहे 3 आतंकी मारे गए। घुसपैठियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद हुए हैं। सुरक्षा बलों के अधिकारियों ने बताया कि लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के पास सेना के जवानों ने संदिग्ध गतिविधि देखी, जिसके बाद ये एक्शन लिया गया। आतंकियों की तरफ से भी फायरिंग की गई।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अधिकारियों ने जानकारी दी कि कुल चार घुसपैठिए थे, जिनमें तीन को मार गिराया गया, चौथा आतंकी फरार हो गया। खराब मौसम और कोहरे के कारण चौथे आतंकी का पता नहीं चल पाया है। उसकी तलाश की जा रही है। बता दें कि पांच दिन में घुसपैठ की ये तीसरी कोशिश है। इन पांच दिनों में 5 आतंकी मारे गए।

इधर, आज सुबह बांदीपोरा पुलिस ने 26 असम राइफल्स के साथ एक जॉइंट ऑपरेशन में लश्कर के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक इनके पास से हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किए गए हैं, जिनमें मैगजीन के साथ 3 पिस्तौल, 24 जिंदा 9MM कारतूस, 5 हैंड ग्रेनेड, फर्जी पुलिस आईडी कार्ड, स्वास्थ्य विभाग का फर्जी आईडी कार्ड शामिल है।

22-23 अगस्त को मारे गए थे 2 आतंकी

नौशेरा में LoC से घुसपैठ करते समय मारे गए आतंकियों के पास से सेना ने हथियार और पाकिस्तानी रुपए बरामद किए थे।
नौशेरा में LoC से घुसपैठ करते समय मारे गए आतंकियों के पास से सेना ने हथियार और पाकिस्तानी रुपए बरामद किए थे।
नौशेरा में LoC से घुसपैठ करते समय मारे गए आतंकियों के पास से सेना ने हथियार और पाकिस्तानी रुपए बरामद किए थे।

इससे पहले 22-23 अगस्त को एक दूसरे ऑपरेशन में नौशेरा के लैम सेक्टर में 3 आतंकवादियों ने घुसपैठ की कोशिश की। जवान इन पर नजर रख रहे थे, जैसे ही ये LoC क्रॉस कर माइन फील्ड्स के पास पहुंचे, माइन्स एक्टिवेट हो गईं।

यह खबर भी पढ़ें:-   उम्र 22 साल, चोरी के 28 केस; बीस दिन पहले जेल से निकला और आठ वाहन ले उड़ा

धमाके में 2 आतंकवादियों की मौके पर ही मौत हो गई। एक आतंकवादी घायल तो हुआ, लेकिन खराब मौसम का फायदा उठाकर भाग गया। मारे गए आतंकियों की बॉडी अगले दिन यानी 24 अगस्त को बरामद हुई। अभी यहां सर्च ऑपरेशन जारी है, लेकिन इस इलाके में लैंड माइन्स बिछी हैं इसलिए इसे सावधानी से अंजाम दिया जा रहा है।

21 अगस्त को राजौरी में घुसपैठ की कोशिश
21 अगस्त को जम्मू-कश्मीर के राजौरी में 4-5 आतंकियों ने LoC के पास से घुसपैठ की कोशिश की थी। वे लोग भारतीय पोस्ट पर लगी फेंसिंग को काटने की कोशिश कर रहे थे, तभी जवानों ने उन्हें देख लिया। जवानों ने उन्हें ललकारा, इसके बाद सभी आतंकी भागने लगे। इसी दौरान भारतीय जवानों की फायरिंग में एक आतंकी घायल हो गया और जिंदा पकड़ा गया। उसके बाकी साथी घने जंगलों का फायदा उठाकर भाग गए। पकड़े गए आतंकी का नाम तबरक हुसैन है। घायल तबरक को तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट दिया गया।

घायल आतंकी का कबूलनामा

आतंकी तबरक हुसैन ने बताया कि उसे सेना की चौकी के पास हमला करने को कहा गया था। फिलहाल उसे मेडिकल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है।
आतंकी तबरक हुसैन ने बताया कि उसे सेना की चौकी के पास हमला करने को कहा गया था। फिलहाल उसे मेडिकल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है।
आतंकी तबरक हुसैन ने बताया कि उसे सेना की चौकी के पास हमला करने को कहा गया था। फिलहाल उसे मेडिकल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है।

तबरक ने बताया कि वह पाकिस्तान के कोटली जिले का रहने वाला है। पूछताछ में उसने भारतीय पोस्ट पर हमले की साजिश का खुलासा किया। आतंकवादी ने बताया कि एक पाकिस्तानी कर्नल ने उसे भारतीय पोस्ट पर हमला करने के लिए 30 हजार पाकिस्तानी रुपए (10,980 भारतीय रुपए) दिए थे।

यह बातें उसने वीडियो पर कबूल की हैं, जिसे न्यूज एजेंसी ने जारी किया है। यह आतंकवादी पहले भी भारतीय फौज की गिरफ्त में आ चुका है। तबरक को 2016 में भी इसी इलाके में भारतीय सेना ने गिरफ्तार किया था। तब वह अपने भाई हारून अली के साथ आया था। हालांकि तब सेना ने उसे मानवीयता के आधार पर रिहा कर दिया था। उसे नवंबर 2017 में पाकिस्तान वापस भेज दिया था।

यह खबर भी पढ़ें:-   किसान हित में राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला, ऋण माफ़ी पढ़े पूरी खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here