PBM अस्पताल , तिलक नगर डिस्पेंसरी और CMHO ऑफिस का स्टॉफ बेच रहा था 45 हजार रुपए में ऑक्सीजन सिलेंडर, चार गिरफ्तार

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस
न्यूज हाईलाइट्स 
ऑक्सीजन सिलेंडर अवैध रूप से रखने का मामला सामने आया है  
सिलेंडर 45 हजार रुपए में बेचा जा रहा था 
इस मकान पर पिछले तीन दिन से पुलिस की नजर थी  
पीबीएम और तिलक नगर डिस्पेंसरी का स्टाफ

श्री डूंगरगढ़ न्यूज बीकानेर || एक तरफ लोग कोरोना वायरस के कहर से दम तोड़ रहे वहीं दूसरी तरफ कुछ रुपए कमाने के लिए कालाबाजारी भी हो रही है। बीकानेर में पिछले दिनों रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी पकड़ी गई थी और अब ऑक्सीजन सिलेंडर अवैध रूप से रखने का मामला सामने आया है। आश्चर्य है कि बीकानेर में एक ऑक्सीजन सिलेंडर 45 हजार रुपए में बेचा जा रहा है। पुलिस के एक कांस्टेबल ने बोगस ग्राहक बनकर स्वयं ये सौदा किया और बात फाइनल होने पर आसपास खड़ी पुलिस को इशारा करके बुलाया। सीओ सदर पवन भदौरिया और पुलिस उप अधीक्षक धरम पूनिया के नेतृत्व में एक टीम ने नागणेचीजी मंदिर क्षेत्र स्थित एक मकान से 39 सिलेंडर जब्त किए गए हैं।

पूनिया ने बताया कि इस मकान पर पिछले तीन दिन से पुलिस की नजर थी। यहां ऑक्सीजन सिलेंडर आ रहे थे और जा भी रहे थे। ऐसे में यहां से कालाबाजारी होने की आशंका थी। इस बारे में गहन जांच करने के बाद पता चला कि अंदर बड़ी संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर रखे हुए हैं। पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा से निर्देश मिलने के बाद इस घर पर छापा मारा गया है। यहां 39 सिलेंडर मिले हैं, जिसमें बारह भरे हुए हैं, जबकि शेष 27 खाली है। छोटे और बड़े दोनों तरह के सिलेंडर पुलिस ने जब्त किए हैं।

यह खबर भी पढ़ें:-   बुधवार को इन राशियों के लिए बन रहे आर्थिक लाभ के योग, जानें राशिफल

इस तरह हुई कार्रवाई

पुलिस के हेड कांस्टेबल दीपक यादव सिलेंडर लेने के लिए नागणेचीजी मंदिर के पास स्थित इस घर पर पहुंचे। जहां उसे सिलेंडर की कीमत 45 हजार रुपए बताई गई। सौदा तय होने के बाद दीपक ने आसपास खड़ी पुलिस को इशारा कर दिया। मौके पर चार जनों को गिरफ्तार किया गया।

पीबीएम और तिलक नगर डिस्पेंसरी का स्टाफ

गिरफ्तार युवकों ने बताया कि वो पीबीएम अस्पताल में काम करने वाले नर्सिंग स्टाफ भुवनेश कुमार के लिए काम करते हैं। पुलिस ने यहां से सार्दुलगंज निवासी सुनील कुमार ब्राह्मण, तिलक नगर डिस्पेंसरी में संविदा पर काम करने वाला रतनगढ़ निवासी प्रभुदयाल, सीएमएचओ ऑफिस में संविदा पर काम करने वाला भीखमचंद और एंबुलेंस ड्राइवर बलवीर सिंह को गिरफ्तार किया गया है।

कोई नहीं रख सकता सिलेंडर

राज्य सरकार के आदेश और महामारी के चलते प्रदेश में प्रशासन के अलावा किसी के पास भी ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं रखे जा सकते। भरे हुए बारह सिलेंडर रखना भी अपराध है। पूनिया ने बताया कि यह सिलेंडर भुवनेश नामक व्यक्ति के बताए जा रहे हैं। यहां सिलेंडर कैसे आए और क्यों लाए गए, इसकी जांच की जा रही है।​​​​​

ऊंचे दाम में बिक रहे हैं

पिछले लंबे समय से बीकानेर में ऊंचे दामों पर ऑक्सीजन सिलेंडर बिक रहे हैं। जिस सिलेंडर को भरवाने की कीमत पांच सौ रुपए हैं, उसके दो हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं। यह सिलेंडर प्राइवेट हॉस्पिटल के नाम पर भरे जा रहे हैं या फिर घर पर इलाज करवाने वाले रोगियों के नाम पर, इसकी जांच की जा रही है।

यह खबर भी पढ़ें:-   कोटगेट पर उपद्रव, पत्थरबाजी, लाठीचार्ज, पूरे दिन बाजार बंद 15 प्रदर्शनकारी रिहा, दो आरोपी गिरफ्तार

इस टीम ने की कार्रवाई

पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा के आदेश पर सीओ सदर पवन भदौरिया, पुलिस उप अधीक्षक धरम पुनिया, व्यास कॉलोनी थानाधिकारी अरविन्द भारद्वाज, एएसआई रामकरण सिंह, ओम प्रकाश सिगड़, हेड कांस्टेबल कानदान सांधु, दीपक यादव, अब्दुल सत्तार, महावीर सिंह, वासुदेव, लखविन्द्र, योगेंद्र, पुनमचंद, दिलीप, कृष्ण कुमार, बुधराम व सवाई सिंह की मुख्य भूमिका रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here