रामनवमी पर 10 साल बाद आई ऐसी शुभ घड़ी

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़ :-  रामनवमी का त्योहार इस साल बेहद खास होने जा रहा है. ज्योतिषियों का कहना है कि रामनवमी पर इस बार ग्रहों-नक्षत्रों का बहुत शुभ योग बनने जा रहा है, जिसमें प्रॉपर्टी, वाहन और नई चीजें खरीदने से गुडलक आएगा. इतना ही नहीं, इस साल नवरात्र कम-ज्यादा ना होने से भी देवी मां की विशेष कृपा बन रही है. आइए रामनवमी पर बन रहे इस शुभ योग के बारे में जानते हैं.

 

रामनवमी पर इस वर्ष रवि पुष्य योग का निर्माण हो रहा है जो पूरे 24 घंटे तक रहने वाला है. पुष्य नक्षत्र रविवार, 10 अप्रैल को सूर्योदय के साथ शुरू होगा जो अगले दिन सूर्योदय तक रहेगा. इस वर्ष कुल चार रवि पुष्य होंगे, लेकिन 24 घंटे की अवधि सिर्फ रामनवमी वाले रवि पुष्य योग की होगी. खरीदारी के लिए इसे अबूझ मुहूर्त भी माना जा रहा है.

 

ज्योतिर्विदों का कहना है कि इससे पहले ऐसा शुभ संयोग 1 अप्रैल 2012 को बना था और अब 6 अप्रैल 2025 को दोबारा ऐसा योग बनेगा. ज्योतिष के जानकार ये भी कहते हैं कि चैत्र नवरात्र की प्रतिपदा, अष्टमी और नवमी तिथि किसी नए काम की शुरुआत या बिक्री-खरीदारी के लिए बहुत शुभ है. इन तिथियों पर किए गए शुभ कार्यों का लाभ इंसान को लंबे समय तक प्राप्त होता है.

आखिरी दो दिन शुभ संयोग
रामनवमी के अलावा शनिवार, 9 अप्रैल को अष्टमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र से छत्र योग बन रहा है. प्रॉपर्टी में निवेश हो या मकान-दुकान का निर्माण, हर मामले में यह योग बहुत ही शुभ माना जाता है. रामनवमी पर 10 अप्रैल को सर्वार्थसिद्धि, रवि पुष्य और रवियोग होने से हर तरह के शुभ काम के लिए इस दिन अबूझ मुहूर्त रहेगा.

यह खबर भी पढ़ें:-   शिक्षा मंत्री, खेल मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को देंगे ज्ञापन - प्रदेश संरक्षक ओम कालवा

राम नवमी पर पूजा का शुभ मुहूर्त
राम नवमी 10 अप्रैल को देर रात 1 बजकर 24 मिनट से शुरू होगी, जो कि 11 अप्रैल को देर रात करीब सवा तीन बजे समाप्त होगी. रामनवमी पर सुकर्मा और धृति योग भी बन रहा है. सुकर्मा योग 11 अप्रैल को दोपहर 12.04 तक रहेगा. इसके बाद धृति योग शुरू होगा. नया कार्य शुरू करने या खरीदारी के लिए ये मुहूर्त भी बहुत शुभ होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here