चाचा-भतीजी का शव मिलने के मामले में नया मोड़, 10 साल पहले बच्ची की मां की भी संदिग्ध हालत में हुई थी मौत, केस अबतक अनसुलझा

विज्ञापन

Last Updated on 19, March 2022 by Sri Dungargarh News

खींवसर नागौर: नागौर जिले के खींवसर थाना क्षेत्र में लापता चाचा-भतीजी के शव मिलने के अब मामले में नया मोड़ आया है. पुलिस ने बताया है कि बच्ची के दादा ने एक दिन पहले 14 साल की पोती के चाचा पर ही उसे भगा ले जाने की रिपोर्ट लिखाई थी.

पुलिस को शिकायत दर्ज कराकर दादा ने कहा था कि चाचा उसे स्कूल से बाइक पर बैठाकर ले गया. पुलिस की प्राइमरी थ्योरी के मुताबिक चाचा ने ही भतीजी की हत्या की और उसके बाद खुद पेड़ पर फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया. पुलिस अभी तक किसी फाइनल नतीजे पर नहीं पहुंची है. इधर मृतकों के घरवालों ने दोनों की हत्या का अंदेशा जता रहे हैं.

लड़की के पिता का कहना है कि उन्हें दोनों के मर्डर होने का शक है. हत्याकांड में 2 से 3 लोग शामिल हो सकते हैं. उधर, मृतक लड़की के ननिहाल पक्ष के लोगों का कहना है कि 10 साल पहले बच्ची की मां की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. जिसका आज तक खुलासा नहीं हो सका है कि वो कैसे मरी थी.

क्या है मामला
नागौर जिले के खींवसर थाना इलाके के एक गांव में 30 वर्षीय चाचा तीन दिन पहले मंगलवार को गांव के ही सरकारी स्कूल में कक्षा 8 में पढ़ने वाली अपनी 14 साल की भतीजी को बाइक पर लेकर निकला था. चाचा उसे होली पर नए कपड़े दिलाने की बात कहकर अपने साथ ले गया था.

इसके बाद से चाचा-भतीजी नहीं लौटे. चाचा का मोबाइल भी बंद आ रहा था. बुधवार को घरवालों ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी. गुरुवार को चाचा का शव पेड़ पर लटका मिला और नाबालिग का शव नग्न अवस्था में मिला. मृतका 14 साल की नाबालिग के प्राइवेट पार्ट सहित शरीर पर कई जगह ब्लेड से कट के निशान भी मिले.  मौके से पुलिस ने ब्लेड भी बरामद की.

यह खबर भी पढ़ें:-   आज जारी होगा राजस्थान 10वीं परीक्षा का रिजल्ट!

इस दौरान खींवसर चिकित्सालय पर पोस्टमॉर्टम के दौरान ग्रामीणों और घरवालों ने घटना का खुलासे से पहले शव लेने से इनकार कर दिया. इस पर पुलिस अधिकारियों की समझाइश और जल्द खुलासे के आश्वासन के बाद घरवाले और ग्रामीण शव लेने को तैयार हुए. वही नागौर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मीणा ने बताया कि मामले में परिजनों ने चाचा द्वारा नाबालिग भतीजी को ले जाने का मामला दर्ज करवाया गया था.

इधर नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल और खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल ने भी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए ट्वीट कर कहा कि खींवसर थाना क्षेत्र में संदिग्ध अवस्था में युवक-युवती का शव मिलना अत्यंत दु:खद घटना है.

स्थानीय लोगों के मुताबिक प्रथम दृष्टया ये हत्या प्रतीत हो रही है. मामले को लेकर DG से बात करके घटना की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच करके खुलासा करने और हत्या साबित होने पर दोषी अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. वहीं सांसद ने कहा कि जिले में लगातार हत्या सहित बढ़ते अन्य संगीन अपराध चिंता का विषय है. ऐसी वारदात ये साबित कर रही है कि पुलिस का इकबाल अब खत्म हो गया है. साथ ही नागौर जिला अपराधियों का गढ़ बनता जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here