WhatsApp Channel Click here Join Now

योग संस्थाओं को एक साथ आकर मानवता की सेवा हेतू उठाएं आवाज

विज्ञापन

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़ :- श्री डूंगरगढ़ कस्बे के योगी ओम कालवा ने जानकारी देते हुए बताया। वर्तमान व भविष्य में मानवता को बचाने हेतू योग चिकित्सा पद्धति रामबाण साबित होगी।

Google Ad

हमारें योग ऋषि मुनियों ने योग साधना के बल पर जन्म से लेकर मृत्यु तक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए योग विद्या के विभिन्न चरणों का वैज्ञानिक आधार पर उपयोग करते हुए जीवनोपयोगी बनाया। योगी ओम कालवा ने बड़े दुख के साथ कहा वर्तमान समय में बढ़ती जनसंख्या, पूरी सुविधाओं का न मिलना, अनंत इच्छाएं, गलत खान पान, अनियमित दिनचर्या, पर्यावरण प्रदूषण, तनाव, सैंकडों बीमारियां, अनेकों महामारियां, संस्कारों का न होना, [irp posts=”4561″ name=”ओम कालवा बने यूनिवर्सल योगा एलायंस इंडिया के स्टेट प्रेजिडेंट – UYA”]

इस प्रकार कालवा ने बताया मानव समाज की हर समस्या का निवारण छिपा है योग चिकित्सा पद्धति में अतः देश प्रदेश के सभी योग संगठनों के पदाधिकारीयों से हाथ जोड़कर निवेदन है कि मानवता की सेवा हेतू पुण्य कार्य में अपना योगदान अवश्य दें। [irp posts=”3145″ name=”जानिए 100 वर्षों तक निरोग रहने के लिए जीवन में योग का महत्व योग गुरु ओम कालवा के साथ”]

वर्तमान समय में योग चिकित्सा पद्धति को स्कूली शिक्षा, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा, खेल, आर्मी व पुलिस इत्यादि सभी विभागों में लागू किया जा सकता है। कालवा ने योग की तमाम संस्थाओं को एक होकर आवाज उठाने की अपील की।

मानवता की सेवा हेतू अनिवार्य रूप से लागू होना चाहिए। कालवा का बचपन से ही सपना है हर इंसान के जीवन में योग शामिल हो। मानवता को बचाने के लिए हम सब को प्राचीन भारतीय परंपराओं की ओर ध्यान देना होगा।