मकान की छत पर सो रहे युवक की गोली मारकर हत्या, मृतक की पत्नी पर भी धारदार हथियार से हमला, पिता को धक्का देकर गिराया

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज़||  जयपुर जिले के विराट नगर इलाके में एक युवक की सोमवार देर रात को अज्ञात बदमाशों ने फायरिंग कर हत्या कर दी। वारदात के बाद इलाके में सनसनी मच गई। सूचना मिलने पर पुलिस और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। फिलहाल हत्या की वजह आपसी रंजिश बताई जा रही है। लेकिन हत्या में कौन लोग शामिल थे। वे नामजद नहीं हो सके है। वारदात में करीब 10 से 12 लोग शामिल होने की आशंका है। वे तीन -चार मोटरसाइकिल और एक जीप में सवार होकर आए थे।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार वारदात विराट नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड नंबर 15 में गोनेड़ी की ढाणी में हुई। यहां रहने वाला तेजपाल गुर्जर सोमवार रात को अपने घर में छत पर सो रहा था। रात करीब 10.30 बजे हथियारबंद बदमाश वहां पहुंचे। वे घर में घुसकर एक खिड़की तोड़कर सीधे मकान की छत पर पहुंचे। जहां तेजपाल गुर्जर पर फायरिंग कर हत्या कर दी और भाग निकले। वारदात के बाद पुलिस को सूचना मिली। तब विराट नगर थानाप्रभारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद कोटपूतली एडिशनल एसपी रामकुमार कस्वां, कोटपूतली सीओ सुरेंद्र कृष्णियां सहित आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

तेजपाल की पत्नी पर भी धारदार हथियार से हमला, पिता को धक्का मारकर गिराया

जानकारी में सामने आया कि करीब आधा दर्जन से ज्यादा बदमाश जब घर में घुसे तब चबूतरे पर सो रहे पिता की नींद खुल गई। बदमाशों ने उनको धक्का मारकर गिरा दिया। इसके बाद पत्नी बीच बचाव में आई तब उस पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। इससे उसके हाथ में चोट आई। वह पति की जान बचाने के लिए चीख पुकार मचाती रही। लेकिन तब तक बदमाशों ने तेजपाल की गोली मार दी।

यह खबर भी पढ़ें:-   जानिए आज का पंचांग शुभ व अशुभ मुहूर्त, क्या है आज के दिन में खास पंडित बाल व्यास खेताराम के साथ

हत्या के मुकदमे में जेल जा चुका है तेजपाल, बड़ा सवाल- सख्त लॉकडाउन में कैसे गुजरी गाड़ियां

प्रारंभिक जानकारी में सामने आया कि तेजपाल यादव भी हत्या के मुकदमे में जेल में बंद रह चुका है। वह जमानत पर जेल से बाहर आया था। ऐसे में पुलिस ने किसी अन्य गुट से रंजिश में हत्या की संभावना जताई है। बदमाशों को नामजद कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है। शव को विराट नगर के राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। जहां पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा कि तेजपाल के कितनी गोली लगी है।

वारदात के बाद बड़ा सवाल उठता है कि जयपुर जिले में 10 मई से ही सख्त लॉकडाउन की शुरुआत हुई थी। गृह विभाग द्वारा जारी गाइड लाइन में निजी वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध है। एक गांव से दूसरे गांव में जाने पर भी प्रतिबंध है। इसके बावजूद बदमाशों अपनी जीप व मोटरसाईकिलों पर आकर हत्या करके भाग निकले। इससे जाहिर होता है कि रात्रि को कर्फ्यू के दौरान सख्ती से रोकटोक नहीं हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here