जन जागृति मंच श्री डूंगरगढ़ के अध्यक्ष तोलाराम मारू द्वारा माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दो ज्ञापन दिए गए

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

श्री डूंगरगढ़ न्यूज || प्रशासन गांवो की तरफ कार्यक्रम के तहत ग्राम लखासर तहसील श्री डूंगरगढ़ में मुख्यमंत्री महोदय अशोक गहलोत के आगमन पर विभिन्न प्रकार के दो ज्ञापन जन जागृति मंच श्री डूंगरगढ़ के अध्यक्ष तोलाराम मारू द्वारा माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दिए गए। प्रथम ज्ञापन में बताया कि राजस्थान में भयंकर कोयले की कमी चल रही है ।

श्री डूंगरगढ़ तहसील के ग्राम रीडी अभयसिंह पुरा बिगा बापेऊ आदि गांवो में बहुत ही उच्च क्वालिटी का भरपूर मात्रा में कोयला का भण्डार है।भारत सरकार के लिग्नाइट के नक्शे में भी इसको उल्लेखित किया गया है। जिसकी प्रति संलग्न कर ज्ञापन में दी गई। श्री डूंगरगढ़ क्षेत्र के विकास को देखते हुए राजस्थान में कोयले की कमी को दूर करने के लिए शीघ्र कोयला खनन शुरू किया जाए।श्री डूंगरगढ़ क्षेत्र में काफी कृषि हुए हैं जिनको बिजली की आवश्यकता होती है

अतः कोयला खनन करके श्री डूंगरगढ़ क्षेत्र में थर्मल पावर की स्थापना की जाए। इस क्षेत्र में कोयला खनन शुरू होने से दूसरे राज्यों को भी कोयला भेजा जा सकेगा और हजारों लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे । बिजली की कमी नहीं रहेगी। ज्ञापन नंबर 2 में मुख्यमंत्री महोदय को बताया कि नगर पालिका श्री डूंगरगढ़ द्वारा आज से 20 वर्ष पहले पट्टे बनाए गए थे उन पट्टो में क्रम संख्या चार में यह शर्त लगा दी गई थी कि आंवटी पट्टे का हस्तांतरण कभी भी नहीं कर सकेगा आंवटी की मृत्यु होने के बाद उसके उत्तराधिकारी उसके मालिक होंगे लेकिन वह भी किसी को भी दान या विक्रय हस्तांतरण नहीं कर सकेंगा ।ऐसे पटा धारियों को किसी भी प्रकार का लोन भी नहीं मिलता है ।

यह खबर भी पढ़ें:-   3 मासूम बच्चियों को एक टांके में फेंक दूसरे टांके में कूदी मां, चारों की मौत

माननीय मुख्यमंत्री महोदय से तोलाराम मारू जन जागृति मंच के अध्यक्ष द्वारा मांग की गई कि ऐसे पट्टाधारियों को पट्टा हस्तांतरण करने की स्वीकृति दी जाए‌ नगर पालिका श्रीडूंगरगढ़ द्वारा एनओसी दी जाए और किसी भी व्यक्ति को विक्रय करने हस्तान्तरण का अधिकार आवंटी पट्टाधारी को दिया जावे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here