क्या लाशों को विक्सिन लगा रहा है चिकित्सा विभाग ? मौत के 6 महीने बाद वैक्सीन की डोज

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

कोरोना वैक्सीनेशन का टारगेट पूरा करने के लिए सरकार पूरा जोर लगा रही है, बांसवाड़ा में इस टारगेट को पूरा करने के लिए चिकित्सा विभाग उन लोगों का भी वैक्सीनेशन कर रहा है, जिनकी मौत हो चुकी है।

सुनने में अजीब लगता है, लेकिन जिले में ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां चिकित्सा विभाग ने उन लोगों को सेकंड डोज के बधाई मैसेज भेजे, जिनकी 6 महीने पहले ही मौत हो चुकी है। परिजनों के पास यह मैसेज पहुंचे तो वे भी हैरान हो गए।

इस मामले की पड़ताल की तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ। घरतारा, ग्राम पंचायत काकनवानी (कुशलगढ़) निवासी संतराम भूरिया के मोबाइल नंबर 97830-04599 को 21 अक्टूबर की शाम 5 बजे बाद मोबाइल पर एक मैसेज भेजा गया। इसमें उसके दादा हुरतिंग भूरिया और दादी इतरी पत्नी हुरतिंग भूरिया के सेकंड डोज लगने की बधाई का मैसेज मिला।

सरकार की ओर से प्रशासन गांवों के संग अभियान में इस बार कोरोना वैक्सीनेशन का भी टारगेट दे रखा था। यह मैसेज टारगेट पूरा करने के हिसाब से लोगों को भेजा जा रहा है। 21 अक्टूबर को ग्राम पंचायत काकनवानी में प्रशासन गांवों के संग अभियान था। शाम 5 बजे बाद टारगेट पूरा करने के लिए उन लोगों के नाम भी मैसेज भेज दिए, जिनकी मौत हो चुकी थी। मामले की पड़ताल की तो सामने आया कि इन्हें 6 महीने पहले पहली डोज लगी थी। मैसेज में बताया गया कि 21 अक्टूबर को शाम 5 बजे कोरोना की दूसरी डोज लगाई गई।

दादा-दादी की 6 महीने पहले मौत, मैसेज भेजा 21 अक्टूबर को दोनों को डोज लगी
हुरतिंग की मौत 19 अप्रैल और इतरी की मौत 21 मई को हो चुकी थी। दोनों ने फरवरी महीने में रामगढ़ पीएचसी पर पहली डोज लगाई थी। इसके बाद दोनों की तबीयत खराब होने लगी। हुरतिंग की मौत को 6 महीने और इतरी की मौत को 5 महीने हो चुके हैं। जबकि चिकित्सा विभाग परिजनों को यह मैसेज भेज रहा है कि 21 अक्टूबर की शाम 5 बजे दोनों को दूसरी डोज लग चुकी है।

यह खबर भी पढ़ें:-   आज का पंचांग दिन का शुभ अशुभ मुहूर्त और योग , पंडित बाल व्यास खेताराम शास्त्री के साथ

पोता बोला- मेरी सेकंड डोज बाकी और मुझे भी मैसेज भेजा
घरतारा, ग्राम पंचायत काकनवानी (कुशलगढ़) निवासी संतराम भूरिया ने बताया कि उसके दादा-दादी के नाम तो सेकंड डोज लगने का मैसेज था। जबकि उसकी खुद की सेकंड डोज बाकी थी तो उसे भी दूसरी डोज लगने का मैसेज मिला।

संतराम ने बताया कि 11 जून को डूंगरा सीएचसी में उसे पहला डोज लगा था। वो अभी कुशलगढ़ स्थित ITI में पढ़ रहा है। जिस दिन उसे मैसेज मिला वह कॉलेज में था। अब वो असमंजस में है कि उसकी दूसरी डोज लगनी बाकी है और अब मैसेज आ गया है तो क्या वैक्सीन लग पाएगी या नहीं।

जार 625 लोगों को फर्स्ट डोज लग गया है। वहीं करीब 51 प्रतिशत यानी 6 लाख 89 हजार 265 लोगों को सेकंड डोज का लक्ष्य पूरा हो चुका है, लेकिन इस तरह की खामियों ने वैक्सीनेशन की इस तस्वीर को धुंधला कर दिया है।

इधर, अधिकारी बोले- तकनीकी खामी की वजह से चल गया होगा मैसेज
मामले में चिकित्सा विभाग से CMHO डॉ. हीरालाल ताबीयार कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे सके। पहले तो वह एक मोबाइल नंबर पर 4 लोगों के रजिस्ट्रेशन की बात करने का दावा करते रहे। फिर बोले कि तकनीकी खामी की वजह से हो गया होगा। सीएमएचओ ने दैनिक भास्कर के रिपोर्टर से भी कहा कि आप जानकारी भेज दो, मैं इसे दिखवा देता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here