राजस्थान में गैंगस्टर राजू ठेहट का दिन-दहाड़े मर्डर:सीकर में घर के बाहर गोलियों से भूना

Google Ads new
जय श्री कृष्णा टेंट हाउस

सीकर: राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट का सीकर में आज सुबह गैंगवार में मर्डर हो गया। कोचिंग की ड्रेस में पहुंचे बदमाशों ने ठेहट को घंटी बुलाकर बाहर बुलाया और फायरिंग कर दी। ठेहट को 3 से ज्यादा गोली लगने की जानकारी है। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (DGP) उमेश मिश्रा ने बताया कि इस फायरिंग का एक बदमाश ने वीडियो भी बनाया। हत्या करके बदमाश अल्टो कार से भागे हैं।

मिश्रा ने बताया कि बदमाश पंजाब और हरियाणा बॉर्डर की तरफ जाएंगे। इन बदमाशों के पीछे राजस्थान पुलिस है पूरे प्रदेश भर में कड़ी सुरक्षा के आदेश दे दिए गए हैं। सभी एसएचओ को फील्ड में रहने के आदेश दिए गए हैं। पुलिस ने बताया कि शहर के पिपराली रोड पर ठेहट का घर है। यहां हुई फायरिंग में नागौर के एक व्यक्ति की भी गोली लगने से मौत हुई है। जानकारी के अनुसार मृतक फायरिंग का वीडियो बना रहा था। इसलिए आरोपियों ने उस पर भी फायरिंग कर दी।

इस एरिया में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच में चारों बदमाश नजर आए हैं। जिसमें वे हथियारों के साथ भागते नजर आ रहे हैं। वहीं, फायरिंग की जानकारी मिलते ही सीकर एसपी कुंवर राष्ट्रदीप सहित बड़े पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए और डीजीपी के निर्देश पर पूरे राज्य में नाकाबंदी की गई है। ठेहट की गैंग शेखावाटी में काफी सक्रिय थी और आनंदपाल गैंग से भी उसकी दुश्मनी थी। आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद भी दोनों गैंग में वर्चस्व की लड़ाई जारी थी।

गोली मारने के बाद चेक किया कहीं जिंदा तो नहीं

यह खबर भी पढ़ें:-   राज्य के सरकारी स्कूलों में सेकेंड ग्रेड टीचर और पीटीआई सहित अनेक पोस्ट पर जल्द हो सकती है बड़ी भर्ती, रिक्त पदों की गणना में जुटा विभाग

इस पूरे हत्याकांड के कई सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं। एक फुटेज में दिख रहा है ठेहट के घर के सामने एक ट्रैक्टर आकर रुकता है और चार-पांच बदमाश उसमें से हथियार निकालकर बाहर खड़े ठेहट पर फायरिंग करना शुरू कर देते हैं। बदमाश 30-40 सेकेंड तक गैंगस्टर राजू पर फायरिंग करते दिख रहे हैं। बदमाशों ने करीब 50-60 राउंड फायरिंग की है। गोली मारने के बाद बदमाश कुछ सेकेंड बाद वापस और जमीन पर पड़े राजू को चेक किया कि कहीं वह जिंदा तो नहीं है।

सुभाष बानूड़ा पर शक

आनंदपाल और राजू ठेहठ के बीच चल रही थी लंबे समय से रंजिश चल रही है। हत्या के पीछे आनंदपाल गैंग के बलबीर बानूड़ा के बेटे सुभाष बानूडा का हाथ बताया जा रहा है। बलवीर बानूड़ा की राजू ठेहट ने हत्या करवाई थी। बताया जा रहा है कि गैंगस्टर सुभाष दो साल से ठेहट को मारने की फिराक में था। हालांकि, पुलिस ने अब तक इस बारे में कुछ नहीं कहा है।

पुलिस ने पकड़ा तो फिर सीकर रहने लगा
राजू ठेहट सीकर के बाद जयपुर में अपनी जड़ें मजबूत करना चाहता था। इसी मकसद से उसने जयपुर को अपना सुरक्षित ठिकाना बना लिया था।

इतना ही नहीं विवादित जमीनों और सट्टा कारोबारियों पर भी राजू ठेहट की नजरें थी। लेकिन महेश नगर थाना पुलिस ने शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसके बाद राजू ठेहट वापस सीकर शिफ्ट हो गया था।

सीकर बॉस के नाम से बुलाते थे
गैंगस्टर्स राजू ठेहट लग्जरी लाइफ जीने का शौकीन है। वह महंगी कार और बाइक पर काफिले के साथ घूमता है। गैंगस्टर राजू ठेहट को सीकर बॉस के नाम से बुलाया जाने लगा है।

यह खबर भी पढ़ें:-   कोरोना संक्रमण: राजस्थान में 10 से 24 मई तक लगा पूर्ण लॉकडाउन, जानिए किसे मिली छूट

जयपुर जेल में बंद रहने के दौरान अपनी गैंग को बढ़ाने के मकसद से जयपुर में भी अपना ठिकाना बनाया। उसको जयपुर के स्वेज फार्म में जिस मकान से पकड़ा, उसकी कीमत 3 करोड़ रुपए बताई जा रही है ।

दरअसल,राजस्थान में गैंगस्टर्स आनंदपाल सिंह और राजू ठेहट में करीब दो दशक वर्चस्व की लड़ाई चली थी। आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद राजू ठेहट का वर्चस्व हो गया।

जेल में बंद होने के दौरान भी उसके फिरौती मांगकर संरक्षण देने के कई मामले सामने आए थे। राजू ठेहट गैंग (RTG) परिवार से लोग गैंगस्टर के साथ जुड़ रहे हैं

रील बनाकर सोशल मीडिया पर डाली
गैंगस्टर राजू ठेहट ने अपना वर्चस्व तो बना लिया। लोगों में सक्रिय रहने के लिए वह रील बनाकर सोशल मीडिया पर भी डालता रहता था। महंगी कार और बाइक का शौकीन राजू ठेहट जयपुर स्थित अपने ठिकाने पर कई बार घूमता नजर आ जाता था। कभी अकेले बाइक राइडिंग तो कभी नई लग्जरी कार राइड करते हुए भी ठेहट अक्सर वीडियो बनाकर सोशल मीडियो पर शेयर करता था। अपने गनमैन और कारों के काफिले के साथ भी वह रील्स बनाता था।

ठेहट को गोली लगने की जानकारी मिलते ही शहर में हड़कंप मच गया है। ठेहट की गैंग शेखावाटी में सक्रिय है। फायरिंग की सूचना मिलते ही एसपी सहित बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।
ठेहट को गोली लगने की जानकारी मिलते ही शहर में हड़कंप मच गया है। ठेहट की गैंग शेखावाटी में सक्रिय है। फायरिंग की सूचना मिलते ही एसपी सहित बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

9 महीने पहले जयपुर में ठेहट के साथ उसके चार साथियों को भी पकड़ा था। जिसमें उसके तीन गनमैन और एक रसोइया भी थे। करीब 3 महीने पहले जमानत पर जेल से बाहर आने के बाद राजू ठेहट गैंग को बढ़ाने में लगा था।

यह खबर भी पढ़ें:-   श्रीडूंगरगढ़ महाविद्यालय में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

राजनीति में उतरने की थी तैयारी
सोशल मीडिया पर सक्रिय राजू ठेहट की भरतपुर के जिला प्रमुख राजवीर, जयपुर के सांगानेर पंचायत समिति के ग्राम पंचायत पवालियां सरपंच रामराज चौधरी और चाकसू विधानसभा यूथ कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश चौधरी के साथ फोटो शेयर कर रखी थी। माना जा रहा है कि राजू ठेहट राजनीति में जल्द से जल्द सक्रिय होना चाहता था।

ऐसे में वह पहले से राजनीति में सक्रिय अपने परिचितों से संपर्क साध कर चर्चा करता रहता था। मीटिंग के दौरान शूट किए फोटो भी चर्चा में बने रहते थे। बदमाशों की टोली के साथ घूमने, खाने-पीने की फोटो भी राजू ठेहट ने शूट कर शेयर करता था।

शेखावटी के बाद जयपुर में भी बनाया नया ठिकाना
राजस्थान का कुख्यात गैंगस्टर राजेन्द्र उर्फ राजू ठेहट ने शेखावटी के बाद जयपुर को अपना नया ठिकाना बनाया था। ठेहट ने जयपुर के महेश नगर स्थित स्वेज फार्म में बीजेपी नेता (पूर्व विधायक) प्रेम सिंह बाजोर के मकान को ठिकाना बनाया था। सुरक्षा के लिए घर पर 30 से ज्यादा CCTV लगाए थे। 3 गनमैन भी साथ रहते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here